Skip to content
Home » Uttarakhand Ke Jile – 2022 उत्तराखंड मे कितने जिले है?

Uttarakhand Ke Jile – 2022 उत्तराखंड मे कितने जिले है?

uttarakhand-me kitne-jile-hai

Uttarakhand Me Kitne Jile Hai | How Many Districts in Uttarakhand in Hindi | All Districts Name of Uttarakhand

दोस्तों, इस आर्टिकल मे हम ‘उत्तराखंड मे कितने जिले है‘ के बारे मे जानेंगे और साथ मे ‘उत्तराखंड मे कितने मण्डल है’ ये भी जानेंगे। Uttarakhand Me Kitne Jile Hai

भारत के उत्तराखंड राज्य को उत्तर प्रदेश राज्य मे से अलग करके बनाया गया राज्य है। उत्तर प्रदेश मे से उत्तराखंड को अलग करने की आंदोलन कई वर्षों से चला आ रहा था। आंदोलन के भयानक रूप से लेने के वजह से भारत की संसद ने उत्तर प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम 2000 के अनुसार तारिख 9 नवम्बर 2000 को उत्तराखंड को भारत नया 27 वां राज्य घोषित कर दिया गया। उत्तराखंड राज्य का क्षेत्रफल 5 लाख 34 हजार 933 किमी2 है। उत्तराखंड का नाम गठन के समय से 2006 तक उत्तरांचल बोला जाता था। परंतु लोगों को और सम्मान देने के लिए 2006 मे उत्तराखंड के नाम से पहचाने जाने लगा।

उत्तराखंड को शुरू से ही ‘देवोभूमि‘ यानि कि देवताओं की भूमि के नाम से इंगित किया जाता है। क्योंकि यहाँ हिन्दू धर्म के देवी देवताओं के मठ, मंदिर और तीर्थ स्थान ज्यादा है। भगवान काल से ही भगवान यहाँ रहते है। भारत की सबसे पवित्र नदी गंगा और यमुना (गंगोत्री और यमुनोत्री) का उद्गम स्थल है। उत्तराखंड मे गंगा, यमुना, केदारनाथ और बद्रीनाथ ये चारों मिलकर छोटा चार धाम बनाते है।

वैसे इस राज्य मे सभी धर्म के लोग रहते है। परंतु हिंदुओं की जनसंख्या सभी धर्मों से ज्यादा है। यहाँ की राष्ट्र भाषा भारत की राष्ट्र भाषा हिन्दी ही है। पहाड़ी क्षेत्र होने से पहाड़ी भाषा भी बोला जाता है। उत्तराखंड मे 86 प्रतिशत भाग पहाड़ी भाग है, 65 प्रतिशत भाग जंगलों से भरा हुआ है और जो भाग बचता है वो हिमालय के बर्फ से ढका रहता है। उत्तराखंड दो देशों और दो राज्यों के सीमा के अंदर घिरा हुआ है। उत्तर मे चीन देश के तिब्बत, पूरब मे नेपाल देश की सीमा, और दो भारतीय राज्य दक्षिण मे उत्तर प्रदेश, पश्चिम और उत्तर पश्चिम मे हिमांचल प्रदेश की सीमा से घिरा हुआ है।

यह भी पढे:- 2022 बिहार मे कितने जिले व मण्डल है?

उत्तराखंड मे कितने जिले है? Uttarakhand Me Kitne Jile Hai

उत्तराखंड मे 13 जिले और 3 मण्डल है। क्षेत्रफल की दृष्टि से चमोली जिला (क्षेत्रफल 8030 वर्ग किमी) सबसे बड़ा जिला है। क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटा जिला चंपावत जिला (क्षेत्रफल 1781 वर्ग किमी) है। जनसंख्या की दृष्टि से हरिद्वार जिला सबसे बड़ा जिला है। जनसंख्या के हिसाब से सबसे छोटा जिला बागेश्वर जिला है। गढ़वाल मण्डल मे 6 जिले आते है इसीलिए गढ़वाल मण्डल उत्तराखंड का सबसे बड़ा मण्डल है।

उत्तराखंड राज्य पर प्राचीन समय से लेकर अंग्रेजों के हुकूमत तक ने यह राज किया है। कई वंश के शासकों ने यहाँ राज किया है। अंग्रेजों के समय यह जगह ग्रीष्मकाल की राजधानी हुआ करती थी। कुमाऊँ और गढ़वाल के क्षेत्र पर अंग्रेजों का हुकूमत ज्यादा रहा है।

दुनिया का सबसे ऊंचा पहाड़ माउंट एवरेस्ट उत्तराखंड मे पड़ता है। ज्यादा तर पहाड़ी इलाका सर्दियों के मौसम मे बर्फ से ढके रहते है। यहाँ जिम कार्बेट नैशनल पार्क एक टाइगर रिजर्व है जिसमे विभिन्न प्रकार के पशु-पक्षियों का जमावड़ा रहता है।

बर्फीले तेंदुए, साधारण तेंदुए, बर्फीले भालू, टाइगर, शेर और हिरण खास तौर पर देखने को मिलते है। उत्तराखंड हिल्स स्टेशन से भी दुनिया बाहर मे प्रसिद्ध है। हर साल लाखों सैलानी यहाँ छुट्टियाँ मनाने आते है। नैनीताल और देहरादून जिले प्रमुख है।

यह भी पढे:- 2022 झारखंड मे कितने जिले व मण्डल है?

S.No.उत्तराखंड के 13 जिलों के नाम (Districts)उत्तराखंड के 3 मण्डल (Divisions)
1.चम्पावत कुमाऊँ
2.नैनीताल कुमाऊँ
3.पिथौरागढ़ कुमाऊँ
4.उधम सिंह नगर कुमाऊँ
5.देहरादून गढ़वाल
6.हरिद्वार गढ़वाल
7.पौड़ी गढ़वाल गढ़वाल
8.टिहरी गढ़वाल गढ़वाल
9.उत्तरकाशी गढ़वाल
10.अल्मोड़ा गेरगैण
11.बागेश्वर गेरगैण
12.चमोली गेरगैण
13.रुद्रप्रयाग गेरगैण

इसके अलावा श्रद्धालु और भक्तों का जमावड़ा भी हर साल लगा रहता है। भक्त हरिद्वार जैसे प्रसिद्ध स्थलों पर आकर भगवान के दर्शन करते है। हिंदुओं का प्रमुख तीर्थ स्थल हरिद्वार मे 12 साल पर एक बार लगने वाला कुम्भ का मेला भी लगता है। यहाँ से ही गंगा और यमुना नदी का उद्गम होता है। कई और नदियाँ का जन्म होता है। जनवरी मे हर साल वैशाखी के वक्त खिचड़ी का मेला लगता है। उत्तराखंड मे नृत्य और संगीत का प्रचलन भी अधिक रहता है।

यह भी पढे:- भारत मे कितनी नदियाँ बहती है?

Exit mobile version