Skip to content
Home » PSLV और GSLV का Full Form क्या होता है?

PSLV और GSLV का Full Form क्या होता है?

pslv-aur-gslv-ka-full-form-kya-hota-hai

PSLV और GSLV का Full Form in Hindi | पीएसएलवी और जीएसएलवी का मतलब क्या होता है? | PSLV और GSLV भारत में कहाँ है?

PSLV Full Form in Hindi | PSLV क्या है?

पीएसएलवी राकेट की ऊंचाई 44 मीटर
पीएसएलवी राकेट का व्यास 2.8 मीटर
चरणों की संख्या 4
भार को उठाने की क्षमता 320 टन (XL)
वैरिएन्ट 3 (PSLV-G, PSLV-CA, PSLV-XL)
पहली उड़ान 20 सितंबर, 1993

PSLV का Full Form ‘Polar Satellite Launch Vehicle‘ होता है। पीएसएलवी का हिन्दी में फूल फॉर्म ‘ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचन रॉकेट’ होता है। अतः अपने नाम से ज्ञात होता है कि पीएसएलवी एक प्रकार से अंतरिक्ष में satellite को भेजता है। इस प्रकार भी कह सकते है कि अंतरिक्ष में मानवीय उपग्रह को लांच करने का स्टेशन है।

ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचन राकेट (PSLV) भारत की तीसरे पीढ़ी का प्रमोचन व्हीकल हैं। पीएसएलवी भारत का पहला प्रमोचक राकेट हैं जो तरल चरणों से लैस होकर प्रक्षेपित होता हैं। भारत में पहली बार 15 अक्टूबर, 1994 पीएसएलवी से सफल राकेट छोड़ा गया था। इसके पहले 20 सितंबर, 1993 को PSLV-G वैरिएन्ट को PSLV-D1 से छोड़ा गया था परंतु ये परीक्षण असफल सिद्ध हुआ। जिसके बाद लगातार अब तक 39 बार PSLV से राकेट का सफल प्रमोचन होता आ रहा हैं। यह भारत के ISRO अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा संचालित किया जाता है। 2008 चंद्रयान मिशन और 2013 में मार्स अर्बिटर स्पैस्क्रैफ्ट का सफ़तापूर्वक प्रक्षेपण यही से किया गया था। इस दोनों मिशन के Satellite अभी भी अपना कार्य कर रहे है। आखिरी बार साल 2017 में PSLV-XL वैरिएन्ट को PSLV-C52/EOS-04 से सफल छोड़ा गया था।

GSLV का फूल फॉर्म क्या होता है? जीएसएलवी क्या है?

GSLV रॉकेट की ऊंचाई 4.13 मीटर
चरणों की संख्या 3
भार उठाने की क्षमता 414.75 टन
पहली बार प्रक्षेपण किया गया 18, अप्रैल 2001
अभी तक प्रक्षेपणों की संख्या 14 प्रक्षेपण (4 असफल प्रक्षेपण)

GSLV का Full Form ‘Geosynchronous Satellite Launch Vehicle’ होता है। जीएसएलवी का हिन्दी में फूल फॉर्म ‘भू-तुल्यकालिक उपग्रह
प्रक्षेपण यान
‘ होता है। भारत में इसरो द्वारा बनाया गया यह सबसे बड़ा लॉन्च व्हीकल स्टेशन है।  चौथी पीढ़ी का यह प्रक्षेपण यान चार तरल स्ट्रैप-ऑन के साथ तीन चरणों वाला वाहन है। इस लॉन्च व्हीकल स्टेशन से 14 रॉकेट सेटेलाइट का प्रक्षेपण किया जा चुका है। पहली बार 18 अप्रैल 2001 में सेटेलाइट रॉकेट को लॉन्च किया गया था। अंतिम बार 12 अगस्त 2021 GSLV-F10 को लॉन्च किया गया परंतु ये असफल रहा।

पीएसएलवी और जीएसएलवी से जुड़े जरूरी सवाल (FAQ’s)

Q : PSLV का फूल फॉर्म क्या होता है?

Ans : PSLV का फूल फॉर्म ‘Polar Satellite Launch Vehicle‘ होता है।

Q : GSLV का फूल फॉर्म क्या होता है?

Ans : GSLV का फूल फॉर्म ‘Geosynchronous Satellite Launch Vehicle’ होता है।

Exit mobile version