Home » MBBS Medical Course Information, Full Form, College, Fee, Eligibility in Hindi
mbbs doctor kaise bane

MBBS Medical Course Information, Full Form, College, Fee, Eligibility in Hindi

Medical MBBS ka full form, course detail, college, fees, eligibility in Hindi | mbbs full form in hindi

आज के आर्टिकल मे हम जानेंगे, एमबीबीएस का फूल फॉर्म (MBBS full form in Hindi) क्या होता है? इसके साथ ही MBBS Medical course की पूरी जानकारी। MBBS मे फीस, योग्यता तथा किस परीक्षा के बाद एमबीबीएस मे दाखिला लेते है।

भारत मे एमबीबीएस डिग्री का बहुत ही मान होता है। इस डिग्री को लेने के बाद को भी व्यक्ति एक प्रतिभाशाली डॉक्टर बनकर देश की सेवा करता है। डॉक्टर को भगवान का दूसरा रूप भी मानते है। कोरोना के समय मे अगर डॉक्टर नहीं होते तो देश मे कई लाखों लोगों की जान गई होती।

यह भी पढे:- GNM का कोर्स करके नर्स कैसे बने?

एमबीबीएस का फूल फॉर्म | What is the full form of MBBS in Hindi?

MBBS Full Form – Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery

MBBS Full Form in Hindi – आयुर्विज्ञान तथा शल्य-विज्ञान स्नातक (बैचलर ऑफ मेडिसिन और बैचलर ऑफ सर्जरी)

एमबीबीएस कोर्स क्या है? | What is MBBS Full Form Course in Hindi

कोर्स का नाम एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन बैचलर ऑफ सर्जरी)
कोर्स का प्रकार बैचलर मे डिग्री
क्षेत्र स्वास्थ्य और देखभाल
योग्यता 10+2 मे 50% (भौतिक, रसायन और जीव विज्ञान)
अवधि 5.5 साल
औसत शुल्क 80 हजार से 40 लाख रुपये
औसत सैलरी 6 लाख सालाना से 60 लाख सालाना
कैरियर के अवसर चिकित्सक, एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, चिकित्सक, न्यूरोलॉजिस्ट, हृदय रोग विशेषज्ञ, प्रसूतिशास्री

MBBS का मतलब Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery होता है। डॉक्टर बनने की लिए MBBS एक अन्डरग्रेजुएट मेडिकल डिग्री है। एमबीबीएस की डिग्री मेडिकल के क्षेत्र मे बहुत ही बड़ा माना जाता है। क्योंकि हजारों मे सिर्फ एक अच्छा एमबीबीएस डॉक्टर बनता है। एक तरह से कह सकते है, यह दुनिया का सबसे अच्छा और सर्वोत्तम डिग्री है।

किसी भी छात्र को एमबीबीएस मे दाखिल लेने के लिए 12 वीं के बाद NEET की परीक्षा मे पास होना पड़ता है। जब नीट मे पास हो जाता है, तब वो BDS (Bachelor of Dental Surgery) और MBBS (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) दोनों मे एक किसी मे भी दाखिला ले सकता है।

हमने NEET परीक्षा और BDS कोर्स के बारे मे डीटेल से दूसरे पोस्ट मे जानकारी ले चुके है। अब एमबीबीएस कोर्स के बारे मे जानेंगे।

MBBS कोर्स के करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर की उपाधि मिलती है। डॉक्टर का तमगा लेने के लिए यह बड़ा ही कठिन प्रक्रिया होती है। एक ही कोर्स मे हम दो क्षेत्र की डिग्री प्राप्त करते है। एक तो बैचलर ऑफ मेडिसिन और दूसरा बैचलर ऑफ सर्जरी

एमबीबीएस पूरा 5.5 साल का लंबा कोर्स होता है। जिसमे 4.5 साल का कोर्स कोर्स और 1 साल का अनिवार्य इंटर्नशिप जुड़ा होता है।

MBBS का क्षेत्र पूरी तरह से दवाओं और इंसान के शारीरिक संरचना और सर्जरी पर निर्भर है। जिसके लिए बड़ा ही धैर्य और समझदारी की जरूरत होती है।

एमबीबीएस मे करियर बनाने के लिए जरूरी स्किल्स

1- एक टीम के साथ काम करने की क्षमता होनी चाहिए

2- एक सहायक पेशेवर होने की गहरी रुचि होनी चाहिए

3- साथ मे एक अच्छी सहनशक्ति होनी चाहिए

4- जिम्मेदारी के साथ रवैये को अपनाना

5- धैर्य और करुणा का भाव रखना

6- ज्ञान और कौशल का भरपूर तालमेल होना चाहिए

7- हर समय मानसिक सतर्कता होनी चाहिए

यह भी पढे:- ANM का कोर्स क्या है? ANM से नर्स कैसे बने?

एमबीबीएस के फायदे – Advantages of Medical MBBS

बैचलर ऑफ मेडिसिन और बैचलर ऑफ सर्जरी की डिग्री प्राप्त करना कोई आसान पढ़ाई नहीं होता है। हर साल देश के लाखों युवा अपने नाम के आगे एमबीबीएस की उपाधि लगना देखना चाहते है। परंतु जो सबसे तेज और एमबीबीएस को दिलों जान से चाहता है वही प्राप्त करता है।

एमबीबीएस डॉक्टर बनकर अपने देश की सेवा करने का अवसर मिलता है बल्कि सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों मे उच्च औदे पर नौकरी मिलती है। मेडिकल के क्षेत्र मे एमबीबीएस एक बड़ा डिग्री है। एमबीबीएस के बाद MS, MD और DNB मे इससे बड़े डिग्री को प्राप्त करने के काबिल बन जाते है।

यह भी पढे:- डिस्टेंस लर्निंग से ग्रेजुएशन कैसे करे?

एमबीबीएस डिग्री के लिए पात्रता – Eligibility for MBBS Course

जो भी इस डॉक्टर बनना चाहता है। उसे जानकारी होगी की सिर्फ नीट का परीक्षा देकर हम एमबीबीएस मे दाखिला ले सकते है। नीट कि परीक्षा देश के कठिन परीक्षाओं मे गिनी जाती है। नीट का फॉर्म भरने के लिए पात्रता बारहवीं मे जीव विज्ञान स्ट्रीम से पढ़ाई करनी पड़ती है।

  • 10+2 मे न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य है। बारहवीं मे जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान मे 50 प्रतिशत अंक होना चाहिए।
  • इसके बाद छात्र की उम्र 17 वर्ष होनी चाहिए।
  • आरक्षण के हिसाब से आरक्षित वर्ग को कुछ छूट दिया जाता है। जो न्यूनतम 40% होता है।
  • एमबीबीएस मे हिस्सा लेने के लिए आवेदक की उम्र अधिकतम 25 वर्ष होना चाहिए।

एमबीबीएस मे प्रवेश कैसे करे – MBBS Admission

MBBS (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) कॉलेजों और संस्थानों मे प्रवेश लेने के लिए शैक्षणिक संस्थान अलग-अलग तरीके से करते है।

प्रवेश परीक्षा:- कुछ एमबीबीएस कॉलेज एन्ट्रेन्स इग्ज़ैम कराते है। यह सबसे आसान जरिया होता है। छात्रों को एमबीबीएस कॉलेज मे एड्मिशन लेने के लिए। क्योंकि इसमे नीट परीक्षा फॉर्म को भरा जाता है। इस परीक्षा को जो उत्तीर्ण करता है, उसे एमबीबीएस मे अलग अलग कॉलेज को प्रोवाइड किया जाता है।

कटऑफ आधारित या मेरिट पर:- देश मे कुछ ऐसे कॉलेज और विश्वविद्यालय है जो योग्यता के आधार पर एमबीबीएस मे सीट प्रोवाइड करते है। ये कॉलेज 10+2 मे प्राप्त अंकों के आधार पर स्टूडेंट्स का दाखिला लेते है। कभी – कभी मेरिट पर कटऑफ निकाल कर स्टूडेंट्स का सिलेक्शन करते है। हालांकि ऐसे स्कूलों की संख्या काफी कम है। लेकिन एक तरह से देखा जाए तो इग्ज़ैम देकर कॉलेज पाने वाला स्टूडेंट ज्यादा अच्छा होता है।

यह भी पढे:- एनआईडी का कोर्स क्या है? एनआईडी से डिज़ाइनिंग कैसे करे?

एमबीबीएस के लिए नीट की परीक्षा देकर अड्मिशन लेना – Take Admission in MBBS college through NEET Exam

भारत की ज्यादातर (संख्या मे सबसे अधिक) कॉलेज और विश्वविद्यालय नीट यानि की राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा को कराते है। यह एक इंडिया लेवल का परीक्षा होता है।

नीट प्रवेश परीक्षा:- एमबीबीएस कॉलेज मे दाखिला लेने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के संबंधित संगठनों द्वारा NEET UG (National Eligibility Cum Entrance Exam Under Graduate) की परीक्षा आयोजित की जाती है। नीट का पेपर कठिन होता है। इसीलिए अच्छे से तैयारी करनी चाहिए। अगर आप नीट यूजी परीक्षा मे सफल हो जाते है तो आपको एमबीबीएस कॉलेज मे प्रवेश मिलता है।

नीट-यूजी परीक्षा पैटर्न

प्रश्नों की संख्या 180
परीक्षा का मोड ऑफलाइन
प्रश्नों के प्रकार बहुविकल्पी प्रश्न (MCQ)
विषय आधारित भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान
नकारात्मक अंकन (negative marking) व प्रकार हाँ (सही होने पर 4 अंक, गलत होने पर -1 अंक)
परीक्षा की अवधि 3 घंटा
कुल अंक 720

टॉप 10 बेस्ट एमबीबीएस कॉलेज इन इंडिया

S.NO.MBBS CollegeFees Structure per Year (INR)
1.AIIMS, New Delhi1628
2.Christian Medical College (CMC), Vellore49,000
3.Banaras Hindu University (BHU), Varanasi16,000
4.Jawaharlal Institute of Post Graduate of Medical College and Research (Jimper), Pondicherry5,000
5.King George’s Medical University (KGMU), Lucknow55,000
6.Aligarh Muslim University (AMU), Aligarh54,00,000
7.Maulana Azad Medical College, New Delhi16,000
8.Vardhman Mahavir Medical College & Safdarjung Hospital, New Delhi35,000
9.S.R.M. Institute of Science and Technology, Chennai23,00,000
10.Jamia Hamdard University, New Delhi13,00,000

एमबीबीएस डिग्री कोर्स लिस्ट – MBBS Degree Course List Year Wise

MBBS 1st Year Subjects
  • शरीर रचना (Anatomy)
  • जीव रसायन (Biochemistry)
  • शरीर क्रिया विज्ञान (Physiology)
MBBS 2nd Year Subjects
  • सामुदायिक चिकित्सा (Community Medicine)
  • औषधि (Pharmacology)
  • विकृती विज्ञान (Pathalogy)
  • किटाणु विज्ञान (Microbiology)
  • फोरेंसिक मेडिसिन एण्ड टॉक्सिकोलॉजी (Forensic Medicine and Toxicology)
  • वार्डों मे क्लीनिकल पोस्टिंग (Clinical Posting in Wards)
  • ओपीडी (OPD)
MBBS 3rd Year Subjects
  • सामुदायिक चिकित्सा (Community Medicine)
  • इएन्टी (ENT)
  • नेत्र विज्ञान (Opthalmology)
MBBS 4th Year Subjects
  • मनोचिकित्सा (Phychiatry)
  • त्वचा विज्ञान और वेनेरोलॉजी (Dermatology and Venerology)
  • बच्चों की दवा करने की विद्या (Pediatrics)
  • एनेस्थीसियोलॉजी (Anesthesiology)
  • हड्डी रोग (Orthopedics)
  • प्रसूति एवं स्त्री रोग (Obestrics and Gynecology)

यह भी पढे:- आईपीएस कैसे बने? पूरी जानकारी ..

एमबीबीएस छत्रों के लिए 1 साल के इंटर्नशिप मे सीखने के लिए उपयोगी चिकित्सा क्षेत्र और उसकी अवधि

दवा (Medicine)2 महीने
सामुदायिक चिकित्सा (Community Medicine)3 महीने
हड्डी सर्जरी और रोग (Surgery including Orthopaedics) 2 महीने
स्त्री रोग और प्रसूति (Obstetrics & Gynaecology)2 महीने
कल्याण योजना (Welfare Planning)15 दिन
बाल चिकित्सा (Paediatric)15 दिन
नेत्र विज्ञान (Ophthalmology)15 दिन
ईएनटी सर्जन (Otorhinolaryngology)15 दिन
दुर्घटना क्षेत्र (Casualty)1 महीना

MBBS Course me Kitna Fees lagta Hai

भारत मे एमबीबीएस डिग्री प्राप्त करने के लिए नीट का परीक्षा देना पड़ता है। इसके बाद अगर आपक रैंक सबसे अच्छा है तो आपको सरकारी कॉलेज मिलता है। नई दिल्ली का एम्स इंस्टिट्यूट बहुत बढ़िया कॉलेज है। यहाँ से 4 साल के पढ़ाई के लिए 10 हजार का फीस लगता है। अगर वही प्राइवेट संस्था से एमबीबीएस की पढ़ाई करते है तो फीस 60 लाख से 80 लाख तक है।

विदेशों मे एमबीबीएस की पढ़ाई बहुत ही महंगी है भारत के अपेक्षा वहाँ करोड़ों रुपये लगते है एक एमबीबीएस की डिग्री प्राप्त करने के लिए।

MBBS Doctor Banne ke Baad Kitni Salary Milti Hai

जैसे हर काम मे experience के हिसाब से सैलरी मिलता है। वैसे ही एमबीबीएस डॉक्टर बनने के बाद experience की सख्त जरूरत होती है। जैसे ही आपका experience के हिसाब से स्किल्स बढ़त जाता है वैसे ही आपका सैलरी 10 लाख सालाना पार हो जाता है।

एमबीबीएस का कोर्स करने के बाद अगर आपकी सरकारी नौकरी लगती है तो आपका सैलरी 6 लाख से 8 लाख सालाना होगा। जितना ज्यादा इक्स्पीरीअन्स पुराना होगा उतना सैलरी बढ़ेगा। 10 साल का इक्स्पीरीअन्स वाले एमबीबीएस डॉक्टर को 12 लाख से 18 लाख सलना सैलरी मिलता है।

कुछ ऐसे डॉक्टर होते है जो कुछ साल तक नौकरी करने के बाद experience लेने के बाद नौकरी छोड़ देते है। और वो अपना खुद का प्राइवेट अस्पताल खोलते है। प्राइवेट अस्पताल मे यहीं कमाई 30 लाख से 40 लाख सालाना होती है।

तो दोस्तों, आपने एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने के बारे मे पूरा पढ़ा होगा। आशा होगा की आपको यह आर्टिकल पढ़कर जानकारी मिल गया होगा। एमबीबीएस डॉक्टर एक बड़े पद की डिग्री होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

ANM नर्सिंग का फूल फॉर्म और पढ़ाई की पूरी जानकारी जल्दी पढे Duniya Ka Sabse Amir Aadmi Happy Valentine Day Week List 2022 (7 February to 14 february) IPS Officer का फूल फॉर्म क्या होता है? आईपीएस अधिकारी बनने के लिए कौन सा इग्ज़ैम देना पड़ता है NCR का फूल फॉर्म क्या होता है? दिल्ली को NCR क्यूँ कहते है? उर्वशी रौतेला के हॉट पिक्स कंप्युटर का फूल फॉर्म क्या होता है? साथ ही इसके दूसरे पार्ट्स का पूरा नाम क्या होता है? जरूर पढे चैत्र राम नवमी 2022 में कब है? राम नवमी पूजा की तिथि समय और राम नवमी कथा दुनिया के सात अजूबे फोटो सहित जल्दी देखे 😱😱 बाप रे ! वर्तमान समय में भारत में कितने राज्य और केंद्र शासित प्रदेश है?