ब्रह्मांड के बारे में रोचक तथ्य तथा ब्रह्मांड से जुड़ी रोचक जानकारियाँ

अगर आप भी जानना चाहते हैं ब्रह्मांड के बारे में रोचक जानकारियाँ तो बने रहे हमारे साथ, ब्रह्मांड अनंत हैं ये तो आज सबको मालूम हैं मगर प्राचीन समय में ये बात सबको पता नहीं था। क्या आपको मालूम हैं कि हमारे पूर्वज प्राचीन समय से ही ब्रह्मांड के बारे में जानने की इच्छा रखते थे उस समय लोग तारों और सूर्य को देखकर अपने समय का पता लगाते थे और मौसम संबंधी जानकारियाँ भी लोगों को बताते थे।

अंतरिक्ष और ब्रह्मांड दोनों एक ही सिक्के के पहलू हैं ये तो अलग नहीं एक दूसरे से दोनों शब्दों का अर्थ एक ही होता हैं।

अंतरिक्ष जो कि अन्नत हैं उसी प्रकार से इसमें अन्नत गैलक्सी (मंदाकिनी) भी हैं और इन मंदाकनियों में खरबों तारे और खरबों ग्रह हैं। अभी तक वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में अनुमान के हिसाब से 1 खरब गैलेक्सी होने का बात बताया हैं ये बात बस अपने आस -पास की हैं पर मेरे खयाल से अरबों खरबों पर घात लग जाए अरबों खरबों का उतनी होगी। कहने का मतलब हैं हमारे कल्पना से परे हैं ये ब्रह्मांड जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

दुनिया के नए सात अजूबे जिसको बहुत कम लोग जानते हैं चित्र सहित बताया गया है 

अनंत ब्रह्मांड में अकेले हम ही हैं?

इस पोस्ट में हम अपने सौर मण्डल से दूर की बात करेंगे यकीनन आपको पढ़ के अच्छा लगेगा।

हमारे अंतरिक्ष या ब्रह्मांड में जो भी पिंड हैं चाहे वो तारे हो या ग्रह सब कुछ प्रसार कर रहे हैं और गति में हैं।

अंतरिक्ष की उत्पत्ति वैज्ञानिकों के द्वारा माना जाता हैं कि बिग बैंग (Big Bang) के घटना के अनुसार हुआ हैं। परंतु ये सत्य नहीं हैं।

अंतरिक्ष में हमारे सूर्य के अरबों गुणा बड़े तारे हैं इन तारों के अंदर गुरुत्वीय बल इतना हैं कि अगर आप इनके इर्द गिर्द भी चले जाते हैं तो वहाँ से नहीं आ सकते हैं।

ब्रह्मांड के दूरियों को नापने के लिए प्रकाश वर्ष का सहारा लेते हैं हमारा मंदाकिनी 1 लाख प्रकाश वर्ष में फैला हुआ हैं।

93 अरब प्रकाश वर्ष चौड़ा हैं ब्रह्मांड अब आप सोचते होंगे कैसे वैज्ञानिक इतनी बड़ी दूरी को नापते होंगे।

इसके लिए वैज्ञानिकों ने रेडियो तरंगों के माध्यम किसी भी गैलेक्सी के बीच की दूरी को निकलते हैं या किसी भी ग्रह के बीच के दूरी को निकलते हैं।

इस रेडियो तरंग को ‘कॉस्मिक डिस्टेंड लैडर’ कहते हैं। प्रकाश 1 सेकंड में दो लाख की दूरी तय करती हैं अब प्रकाश 1 साल में जितनी दूरी तय करती हैं उस दूरी को 1 प्रकाश वर्ष कहते हैं।

अंतरिक्ष में कुछ ऐसे भी ग्रह मौजूद हैं जहां हीरो, सोने, चांदी और भी मूल्यवान धातु पाए जाते हैं।

हमारे पृथ्वी का सबसे नजदीक का तारा सूर्य हैं परंतु दूसरा नजदीक का तारा प्रॉक्सीमा सेन्चुरी हैं जो की हमसे 4.5 प्रकाश वर्ष दूर हैं।

हमारे गैलक्सी में अब तक खोजा गया सबसे बड़ा तारा जो की ब्रह्मांड में दूसरे गैलक्सी में भी इतना बड़ा तारा नहीं होगा Stephenson 2-18 यह सूर्य से 2150 गुना बड़ा हैं और 19,000 लाइट ईयर दूर हैं।

IPS full form in hindi | IPS officer ka full form kya hota hai hindi mein

पूरे ब्रह्मांड में सभी पिंड एक दूसरे से गुरुत्वीय बल के द्वारा जुड़े हुवे हैं।

हमारे गैलेक्सी मिल्की वे के सबसे नजदीक का गैलेक्सी एंड्रोमिडा गैलेक्सी हैं जो कि हमारे गैलेक्सी से 2 गुणा बड़ा हैं।

प्रसिद्ध वैज्ञानिक कार्ल सैगन का कहना हैं कि किसी समुन्द्र के किनारे पर इतने बालू के कण नहीं होंगे जीतने अंतरिक्ष में तारे हैं।

सभी गैलेक्सी के केंद्र में ब्लैक होल रहता हैं। ब्लैक होल अंतरिक्ष के सबसे गुरुत्वीय पिंड हैं। जिसमें इतना ताकत हैं पूरे गैलेक्सी को भी अपने अंदर समा सकता हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *